जिले के बारे में

ऊना हिमाचल प्रदेश का एक जिला है जो दक्षिण पश्चिमी भाग में स्थित है। 1 सितंबर 1972 को हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा कांगड़ा जिले को तीन जिलों में ऊना, हमीरपुर और कांगड़ा में पुनर्गठित किया गया। उना के प्रसिद्ध स्थानों में चिंतपुरी माता मंदिर, डेरा बाबा बड़ भाग सिंह, डेरा बाबा रुद्रु, जोगी पांगा, धर्मशाला महंत, ध्युन्सर महादेव मंदिर, तलमेहरा, शिवबारी मंदिर, गगरेट और मिनी सचिवालय शामिल है। पंजाब राज्य के करीबी निकटता होने के कारण ऊना जिले का औद्योगिक क्षेत्र में काफ़ी विकास हुआ है। मेहतपुर,  गगरेट, टाहलीवाल और अम्ब क्षेत्र ऊना के मुख्य औद्योगिक केंद्र हैं। 11 जनवरी 1991 को उना को चौड़ी गेज ट्रैक बिछाने के साथ ही  रेलवे लाइन के साथ नंगल (पंजाब) से जोड़ दिया गया और जोकि अब बढ़ कर दौलतपुर कस्बे तक पहुँच चुकी है । जिले में पंजाबी, हिंदी, पहाड़ी भाषा सामान्यत बोली जाती है। सर्दियों में तेज ठंड पड़ती है और गर्मियों में पारा 45  डिग्री तक पहुँच जाता है । जुलाई से सितंबर तक मौसम बरसात और नमी भरा रहता है।